Uttarkashi में 17 दिनों से फसे मज़दूर आ गए बाहर, हुई एक काफ़ी बड़ी जीत

Uttarkashi:- उत्तराखंड के उत्तरकाशी स्थित सिल्क्यारा टनल में पिछले 17 दिनों से करीबन 41 मजदूर फंसे हुए थे। सबसे पहले दो मजदूरों को सुरंग से निकल गया और उन्हें तुरंत एंबुलेंस अस्पताल की ओर ले जाया गया उसके बाद एक-एक कर सभी मजदूरों को बाहर निकाल दिया गया है। तो चलिए इससे जुड़ी पूरी खबर हम आपको बताते हैं।

बाहर आए मज़दूर

उत्तराखंड के उत्तरकाशी स्थित सिल्क यार टनल में फंसे मजदूर बाहर सुरक्षित आ गए हैं। मलबे के बीच से रास्ता बनाने में झूठे रात माइनर्स ने मैन्युअल ड्रिलिंग कर मजदूर तक रेस्क्यू के लिए पाइप पहुंचाई जैसे ही पाइप मजदूरों के पास पहुंची सबसे पहले टनल के अंदर एनडीआरएफ और एसडीआरएफ की टीम पहुंची। आपको बता दें मजदूरों की हालत काफी गंभीर थी और इसलिए एंबुलेंस और डॉक्टर को टनल के पास ही तैनात कर दिया गया था ताकि इमरजेंसी पढ़ने पर जल्द से जल्द मजदूरों का इलाज किया जा सके। https://www.youtube.com/live/KIy-s76w1Qo?feature=shared

मजदूरों को तत्काल चिकित्सा सहायता देने के लिए वहां 41 एंबुलेंस के साथ डॉक्टर की टीम भी टनल के अंदर गई और इस बीच इन मजदूरों के परिजनों को भी गर्म कपड़े लेकर टनल के पास बुलाया गया।

सुरक्षित है सभी मज़दूर

सभी मजदूर टनल में सुरक्षित थे हालांकि रोजमर्रा की जरूरत के के कारण उनकी हालत काफी गंभीर हो चुके थे लेकिन अभी हालत काफी स्टेबल है। आपको बता दें कि कम धामी भी टनल के अंदर पहुंचे थे वहीं मजदूर के परिजनों के साथ-साथ स्थानीय लोग भी टनल के बाहर एकत्रित थे इस पूरे बचाव अभियान का प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी लगातार अपडेट लेते रहे। उत्तराखंड के मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने भी कई बार घटनास्थल पर पहुंचकर जायज लिया और मजदूरों से बातचीत की मजदूरों को पिछले 17 दिनों से पाइप के जरिए भोजन पानी दवा पहुंचाई जा रही थी और आखिरकार आज वह दिन आ ही गया जब मजदूरों को सुरक्षित टनल से बाहर निकाल दिया गया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *