Vijay Diwas 2023: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और राष्ट्रपति मुर्मू ने दी 1971 के युद्ध में शहीद हुए सैनिकों को श्रद्धांजलि

Vijay Diwas 2023: भारतीय इतिहास में 16 दिसंबर की तारीख बेहद महत्वपूर्ण है, यह तिथि भारतीय क्लेंडेर में विजय दिवस को प्रस्तुत करती है। विजय दिवस का यह दिन वह शानदार जीत का उत्सव है, जब 1971 में भारतीय सशस्त्र बलों ने पाकिस्तान के खिलाफ जंग लड़ी और बांग्लादेश की मुक्ति को साकार किया। इस विशेष दिन को याद करते हुए, हम उस वीरता, साहस और समर्पण को सलाम करते हैं जिसने हमारे देश को गर्वशील बनाया।

विजय दिवस का महत्व

यहाँ विजय दिवस का महत्व सिर्फ एक युद्ध की जीत के रूप में ही नहीं है, बल्कि यह दिन वो संघर्ष और समर्पण का परिणाम है जो हमारे सैनिकों ने दिखाया। उन्होंने न सिर्फ अपने देश के लिए बल्कि एक नए राष्ट्र की उत्थान में भी योगदान दिया।

विजय दिवस के इस महान उत्सव को मनाने का मतलब यह भी है कि हमें अपने सैनिकों की महत्ता और उनके समर्पण को समझना चाहिए। उन्होंने हमारे देश की रक्षा के लिए स्वयं को बलिदान किया। उनके पराक्रम, त्याग और निष्ठा को स्मरण करते हुए, हमें उनकी श्रद्धांजलि देनी चाहिए और उन्हें सम्मानित करना चाहिए।

1971 का युद्ध

1971 का युद्ध भारतीय इतिहास की एक महत्त्वपूर्ण घटना रहा है। इस युद्ध की शुरुआत हुई थी 3 दिसंबर, जब पाकिस्तानी वायुसेना ने भारतीय वायुसेना के कई आक्रमणों को कामयाबी से नकार दिया। इसके परिणामस्वरूप, भारत ने पाकिस्तान के खिलाफ संघर्ष शुरू कर दिया, जिससे दोनों देशों के बीच एक बड़ी युद्ध का माहौल बन गया।

एक रिपोर्ट के अनुसार, 1971 की लड़ाई के दौरान 9,851 घायल हुए थे, जबकि 3,900 भारतीय सैनिकों ने अपना बलिदान दिया था। भारतीय सेना की ताकत, एकता और युद्ध कौशल का परिणाम था जिसने दुश्मन को हराया। इसके दौरान, बांग्लादेश के लोगों को भी भारतीय सेना ने साथ दिया और उन्हें उनकी आज़ादी का मौका दिया।

Also Read: राजपरिवार से ताल्लुक रखने वाली Diya Kumari बनी राजस्थान की नई डिप्टी सीएम

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने दी श्रद्धांजलि

भारत के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने अपने सोशल मीडिया हैंडल पर 1971 के युद्ध में शहीद होने वाले सभी सैनिकों के लिए भावभीनी श्रद्धांजलि अर्पित की है। प्रधानमंत्री ने अपने एक्स के आधिकारिक सोशल मीडिया हैंडल पर इससे सम्बन्धित एक पोस्ट शेयर की है।

इस पोस्ट में प्रधानमंत्री ने लिखा है, “आज, विजय दिवस पर, हम उन सभी बहादुर नायकों को हार्दिक श्रद्धांजलि अर्पित करते हैं जिन्होंने 1971 में निर्णायक जीत सुनिश्चित करते हुए कर्तव्यनिष्ठा से भारत की सेवा की। उनकी वीरता और समर्पण राष्ट्र के लिए अत्यंत गौरव का स्रोत है। उनका बलिदान और अटूट भावना हमेशा लोगों के दिलों और हमारे देश के इतिहास में अंकित रहेगी। भारत उनके साहस को सलाम करता है और उनकी अदम्य भावना को याद करता है।”

राष्ट्रपति द्रोपदी मुर्मू ने दी श्रद्धांजलि

भारत की राष्ट्रपति द्रोपदी मुर्मू ने सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म एक्स पर अपने हैंडल पर एक पोस्ट के जरिए 16 दिसंबर को 1971 के युद्ध के बहादुर नायकों को श्रद्धांजलि अर्पित की है। इस पोस्ट में उन्होंने लिखा है, “देश 1971 के युद्ध के दौरान हमारे सशस्त्र बलों द्वारा किए गए निस्वार्थ बलिदान को कृतज्ञता के साथ याद करता है। विजय दिवस पर, मैं उन बहादुरों को श्रद्धांजलि देता हूं जिन्होंने अद्वितीय साहस दिखाया और ऐतिहासिक जीत हासिल की।”

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *