UPI के द्वारा गलती से भेजा गया 4 घंटे के भीतर पैसा वापस होगा, जानें कैसे काम करता है UPI Transaction Reverse

UPI Transaction Reverse: आजकल Upi Transaction में कई धोखाधड़ी के मामले देखने को मिलते है। जैसे-जैसे यूपीआई ट्रांजेक्शन की सुविधा बढ़ रही है, वैसे-वैसे यूपीआई ट्रांजेक्शन फ्रॉड के मामले भी बढ़ते जा रहे हैं। यही नहीं बल्कि अक्सर हमसे स्वयं UPI से पैमेंट या ट्रांजैक्शन समय हमारी ही गलती से कई बार हमारा पैसा गलत अकाउंट में ट्रान्सफर हो जाता था तो तमाम दिक्क्तों और परेशानियों का सामना करने के बाद भी हम उस रकम को पुनः प्राप्त नहीं कर पाते थे।

लेकिन अब ऐसा नहीं होगा, अगर आप कभी गलती से गलत यूपीआई ट्रांजैक्शन कर भी देते हैं, तो कुछ घंटों के भीतर ही आप उस अमाउंट को प्राप्त भी कर सकते हैं। जानें UPI Transaction Reverse की सुविधा के बारे में।

क्या है, UPI Transaction Reverse

UPI Transaction Reverse यूपीआई प्लेटफॉर्म द्वारा शुरू की गई एक सुविधा है, जो एक अकाउंट से दूसरे अकाउंट में गलती से ट्रान्सफर किए गए अमाउंट को वापस प्राप्त करने की अनुमति देता है। इस सुविधा के अन्तर्गत गलती से ट्रान्सफर किया हुआ अमाउंट बस 4 घंटों के अंदर ही वापस प्राप्त हो जाता है।

कैसे काम करता है, UPI Transaction Reverse

यदि आप कभी गलत यूपीआई ट्रांजैक्शन कर देते हैं, तो आपको सबसे पहले अपने उस बैंक के कस्टमर सर्विस विभाग से संपर्क करना होगा, जो आपके उस UPI Account से कनेक्ट हो। फिर आपको अपने द्वारा किए गए ट्रांजेक्शन की तिथि, समय, राशि आदि की जानकारी देनी होगी।

अगर आपके द्वारा दी गई जानकारी सही हुई तो कुछ समय में आपको आपका अमाउंट वापस प्राप्त हो जाएगा। आप चाहें तो कस्टमर सर्विस विभाग के अलावा यूपीआई सर्विस प्रोवाइडर से भी संपर्क कर सकते हैं। इसके बाद आपको बैंक या यूपीआई सर्व‍िस प्रोवाइडर के द्वारा बताये गए सभी निर्देशों को मानना होगा।

यदि आप सही समय पर शिकायत करते हैं और सभी नियमों का पालन करते हैं, तो आप बड़ी आसानी से अपनी राशि वापस प्राप्त कर सकते हैं।

Also Read: विश्वव्यापी ऑनलाइन चैटिंग APP Omegle का अंत – 14 वर्षों का सफर समाप्त

सही जानकारी देना होगा आवश्यक

ध्यान रहे कि कस्टमर सर्विस विभाग या यूपीआई सर्विस प्रोवाइडर से संपर्क करते समय आपको पूछी गई सभी जानकारी सही-सही देनी होगी। साथ ही आपको गलत ट्रांजेक्शन होने का कारण बताना होगा और र‍िवर्स ट्रांजेक्‍शन का कारण भी बताना होगा। इसके बाद ही आपकी समस्या का मूल्यांकन कर उसका समाधान किया जाएगा।

UPI Transaction Reverse: प्राप्त होगी लिखित सूचना

शिकायत प्राप्त करने के बाद अमाउंट रिटर्न करने से पहले बैंक यह सुनिश्चित करेगा कि किसी भी अकाउंट से कोई गलत ट्रांजेक्शन न हो। इसलिए अमाउंट रिटर्न करने से पहले बैंक के कस्टमर सर्विस विभाग या यूपीआई सर्व‍िस प्रोवाइडर की तरफ से खाताधारक को लिखित में सूचित किया जाएगा और ट्रांजेक्शन की पुष्टि की जाएगी। इसके बाद ही ट्रांजेक्शन रिवर्स होगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *