Tulsi Pujan Diwas 2023: जानें क्या है, तुलसी पूजन दिवस का महत्व

Tulsi Pujan Diwas 2023: भारतीय पुराणों के अनुसार तुलसी पूजन दिवस, तुलसी जी को समर्पित है। इस दिन लोग तुलसी का पौधा लगाते हैं, और तुलसी के पौधे लोगों में वितरित करते है। इसके लिए कई जगह कार्यक्रम आयोजित की जाती हैं। दरअसल तुलसी की पूजा करना बहुत ही शुभ माना गया है। माना जाता है कि तुलसी माता की पूजा सुख समृद्धि देती है। भगवान विष्णु को तो तुलसी बहुत ही प्रिय है,उनके बिना हुए कोई भोग स्वीकार नहीं करते हैं, अगर घर में तुलसी है तो हमें तुलसी पूजा के नियमों को मारना चाहिए।

Also Read- Arbaj Khan Shura Khan Wedding: अरबाज खान और शूरा खान ने की शादी, रवीना व अन्य स्टार्स ने दी शुभकामनाएं

आपको बता दें की, कुछ तारीख निश्चित है, उन तारीखों पर तुलसी नहीं तोड़नी चाहिए। रविवार को तुलसी में पानी नहीं देना चाहिए, अगर घर में धन-धान्य की कमी है तो तुलसी की मंजरी को लाल रंग के कपड़े में बांधे। अब इस कपड़े को घर की तिजोरी में रख दें, मां लक्ष्मी आपको धन-धान्य देगी।इस दिन तुलसी पूजन माला का जाप करना चाहिए, तुलसी जी को कभी भी गंदे हाथों से या बिना नहाए नहीं छूना चाहिए। इसके अलावा तुलसी के पत्तों को चबाकर नहीं खाना चाहिए। तुलसी अगर घर में रखते हैं तो रोज इस पर दीपक जलाना चाहिए और जल अर्पित करना चाहिए।

सर्दी में तुलसी के खराब होने का समय होता है, इसलिए इस समय तुलसी को सर्दी से बचाना चाहिए और इसके ऊपर अच्छे से चुनरी लगा देनी चाहिए जिससे पाले के कारण यह खराब ना हो। गंगाजल में तुलसी की मंजरी मिलकर रख दें। अब इस जल को रोजाना घर में छिड़के, मान्यता है कि ऐसे करने से घर की नेगेटिव एनर्जी दूर होती है।

तुलसी के पौधे से जुड़ी कुछ बातें

अगर गुरुवार को घर में तुलसी का पौधा लगाया जाए तो इससे भगवान विष्णु की कृपा बनी रहती है। ऐसा इसलिए क्योंकि गुरुवार भगवान विष्णु को समर्पित होता है, और तुलसी भगवान विष्णु की प्रिय होती है।
ज्योतिष शास्त्र के अनुसार कार्तिक माह के किसी भी गुरुवार को घर में तुलसी का पौधा लगाना अच्छा होता है।

वास्तु शास्त्र के अनुसार तुलसी का पौधा घर की उत्तर या उत्तर पूर्व दिशा में लगाना चाहिए। कहा जाता है कि इस दिशा में देवताओं का वास होता है।अगर आप चाहे तो घर की बालकनी में भी तुलसी का पौधा लगा सकते हैं, लेकिन इस समय भी दिशा का ध्यान रखना होगा।


कभी भी घर की दक्षिण दिशा में तुलसी का पौधा नहीं लगाना चाहिए। इस दिशा में पौधा लगाने से आर्थिक नुकसान होने की संभावना होती है, क्योंकि इस पितरों की दिशा कहा जाता है।घर के प्रवेश द्वार और गांदि यानि कूड़ा कचरा वाली जगह पर तुलसी का पौधा नहीं रखना चाहिए। कहा जाता है कि ऐसी किसी भी जगह पर तुलसी का पौधा रखने से मां लक्ष्मी नाराज हो जाती है।

Also Read- UP Police Vacancy 2023: UP पुलिस ने जारी की 60 हजार से ज्यादा पद पर भर्तियां, जाने रिक्रूटमेंट से जुड़ी सभी आवश्यक जानकारी

तुलसी को कभी भी प्लास्टिक के बर्तन में नहीं लगाना चाहिए। तुलसी का पौधा प्लास्टिक की बजाय मिट्टी के गमले में लगे।तुलसी को कभी भी रविवार और एकादशी के दिन जल अर्पित नहीं करना चाहिए। रविवार और एकादशी को माता तुलसी का निर्जला व्रत होता है।

तुलसी पूजा नियम

  • सुबह जल्दी उठकर पवित्र स्थान करें।
  • तुलसी को जल चढ़ाएं।
  • सिंदूर और होली का टीका लगाए।
  • मां के समझ घी का दीपक जलाएं।
  • फल और मिठाई का भोग लगाये
  • तुलसी स्त्रोत का पाठ करें।
  • अंत में आरती से पूजा का समापन करें।
  • आशीर्वाद के रूप में तुलसी के बीजों की माला धारण करें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *