अक्षय कुमार संग काम कर चुका, लेकिन अब करता है चौकीदारी क्या आप जानते हैं बॉलीवुड के इस अभिनेता को?

अक्सर ऐसा होता है कि फिल्मों में काम करने के बाद भी कुछ साइड एक्टर्स जैसे होते हैं जिन्हें बाद में काम नहीं मिलता और मजबूरन उन्हें कुछ ऐसा काम करना पड़ता है जिससे उनकी जीविका चल सके। आज हम एक ऐसे ही एक्टर के बारे में बात करेंगे जो अक्षय कुमार संग कई काम कर चुके हैं लेकिन अभी अपनी जिंदगी गुजारने के लिए उन्हें चौकीदारी की नौकरी करनी पड़ रही है। तो चलिए पूरे विस्तार से हम आपको इस अभिनेता के बारे में बताते हैं।

कौन है वह बॉलीवुड अभीनेता

हम बॉलीवुड जिस हीरो के बारे में बात कर रहे हैं वह फिल्मों में अपनी अभिनय के जरिए निर्माता के बीच लोकप्रिय हो गया था। उन्होंने अक्षय कुमार और केके मेनन जैसे प्रतिभाशाली सितारों के साथ काम भी किया है साथ ही अनुराग कश्यप और निखिल आडवाणी जैसे कई जाने-माने निर्देशकों के साथ एक से बढ़कर एक फिल्में भी बनाई है।

हालांकि अभी वह एक गुमनामी की जिंदगी जी रहा है और उसके पास कोई बड़ा काम नहीं रह गया। बताया जा रहा है कि वह हीरो अपने खर्चों को पूरा करने के लिए एक चौकीदारी का काम कर रहा है और उनका नाम है सावी सिद्धू। सावी एक ऐसे प्रतिभावान कलाकार हैं जिसे प्रसिद्धि पाने के बाद जीवित रहने के लिए संघर्ष किया। सावी ने ब्लैक फ्राईडे गुलाल और पटियाला हाउस जैसी फिल्मों में छोटे लेकिन महत्वपूर्ण भूमिकाएं निभाई है लेकिन आम आदमी की तरह रहे गुजर कर रहे हैं। साल 2019 में उन्हें फिल्म कंपनियों द्वारा मुंबई के परेल में एक आवासीय भवन में चौकीदार के रूप में कार्यरत देखा गया था।

क्यों छोड़ी फिल्में?

आपको बता दे कि सावी ने फिल्में नहीं छोड़ी उन्होंने इससे ब्रेक लिया। पोर्टल को दिए इन वीडियो इंटरव्यू में सावी ने बताया कि उन्होंने अपनी बिगड़ती सेहत के कारण फिल्मों से ब्रेक लिया था सावी को कुछ बड़ी व्यक्तिगत क्षति भी उठानी पड़ी उन्होंने बताया कि मेरे जीवन का सबसे कठिन दौर वह था जब मैंने अपनी पत्नी को खो दिया था, फिर मेरे पिता का निधन हो गया मेरी मां की भी मृत्यु हो गई और बाद में ससुराल वालों की भी, मैं अकेला रह गया था मैं बिल्कुल अकेला हूं।

बॉलीवुड सावी ने मान लिया कि ठीक होने के बाद उन्हें काम मिलेगा हालांकि ठीक होने के बाद सावी ने देखा कि उन्हें काम के अवसर मिलने मुश्किल हो गए थे इस तरह उन्होंने अपनी वित्तीय स्थिति को सुधारने के लिए एक चौकीदार के रूप में काम करने का फैसला किया। इंटरव्यू में सावी ने कहा कि 12 घंटे का कठिन काम है यह एक मैकेनिक काम है। मेरे पास बस टिकट खरीदने के लिए भी पैसे नहीं थे, थिएटर में फिल्म देखना अब एक सपना जैसा हो गया है मेरी वित्तीय स्थिति खराब है। कठिनाइयों के बावजूद साबिर ने कहा कि वह फिल्मों में वापसी करने के लिए इंतजार कर रहे हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *