Sukanya Samriddhi Yojna: नए साल से पहले मोदी सरकार ने भारतीयों को दिया उपहार, सुकन्या समृद्धि योजना में ब्याज दर को बढ़ाया

Sukanya Samriddhi Yojna: केंद्र सरकार ने नए साल शुरुआत के पहले कई सारी छोटे-छोटे बदलाव किए हैं। जैसे उन्होंने सुकन्या समृद्धि योजना और 3 साल की टाइम डिपॉजिट जैसी कुछ छोटी बचत योजनाओं के ब्याज दर में इजाफा करने का फैसला लिया है। इस बात की घोषणा शुक्रवार को केंद्र सरकार ने किया।

उन्होंने जनवरी मार्च 2024 तिमाही के लिए सुकन्या समृद्धि योजना, 3 साल की टाइम डिपॉजिट जैसी छोटी बचत योजनाओं के ब्याज दर को बढ़ा दिया है। केंद्रीय वित्त मंत्रालय ने कहा कि सुकन्या समृद्धि योजना और 3 साल के टाइम डिपाजिट योजना के ब्याज में थोड़ी सी बढ़ोतरी की गई है जबकि कई स्मॉल सेविंग स्कीम के ब्याज दर में कोई बदलाव नहीं किया गया है।

आपको बता दे की केंद्र सरकार ने सुकन्या समृद्धि योजना के ब्याज दर को बढ़ाकर 8.2 फ़ीसदी कर दिया है जबकि 3 साल के टाइम डिपॉजिट को बढ़ाकर 7.1 फ़ीसदी कर दिया गया है। इससे पहले सुकन्या समृद्धि योजना का ब्याज 8 फ़ीसदी था। वही बात करें पब्लिक प्रोविडेंट फंड के ब्याज की तो इसके निवेशकों को फिर से मायूसी ही हाथ लगी है। इसमें पिछले तीन सालों से कोई बदलाव नहीं किया गया है।

जाने किन-किन योजनाओं में बदलाव नहीं किया गया है

छोटी-छोटी बचत योजनाओं के तहत जनवरी-मार्च 2024 तिमाही के लिए सिर्फ सुकन्या समृद्धि योजना और 3 साल में मैच्योर होने वाली टाइम डिपॉजिट के ब्याज को बढ़ाया गया है। बाकी सभी छोटी बचत योजनाओं में कोई बदलाव नहीं किया गया है।

Also Read – Dunki Box Office Collection Day 9: रिलीज के दूसरे शुक्रवार फिल्म ने कमाए ₹7.25 करोड़, वीकेंड पर बेहतर प्रदर्शन की उम्मीद

वही बात करें नेशनल सेविंग सर्टिफिकेट पर 7.7 फ़ीसदी ब्याज दर को बरकरार रखा गया है। सीनियर सिटीजन सेविंग स्कीम 8.2 फ़ीसदी ब्याज इस तिमाही में मिलेगा, किसान विकास पत्र में निवेश करने वाले निवेशकों को 7.5 फ़ीसदी ब्याज मिलेगा। वही पोस्ट ऑफिस की मंथली इनकम अकाउंट स्कीम में निवेश पर 7.4 फ़ीसदी ब्याज मिलेगा।

सुकन्या समृद्धि योजना में यह बदलाव दूसरी बार किया गया है

बेटियों के लिए खास तौर से चलाई गई मोदी सरकार की इस स्कीम में वित्त मंत्रालय द्वारा ब्याज दर को दूसरी बार बढ़ाया गया है। पहली बार इसके ब्याज दर को 7.6 से बढ़ाकर 8 फ़ीसदी किया गया था। इसके बाद इसे बढ़ाकर 8.2 फ़ीसदी कर दिया गया है। वही 3 साल की अवधि वाले डिपॉजिट पर ब्याज को सात फ़ीसदी से बढ़कर 7.1 फ़ीसदी किया गया है। यानी मौजूदा वित्त वर्ष में इस योजना के लिए सरकार 0.6 फ़ीसदी ब्याज दरें बढ़ा चुकी है।

पीपीएफ में कोई बदलाव नहीं होने से निवेशकों में उदासी

Also Read – Elon Musk की कंपनी Tesla का जल्दी होगा भारत में आगमन, जाने कौन से शहर में होगा प्लांट

आपको बता दे कि केंद्र सरकार ने केवल सुकन्या समृद्धि योजना और 3 साल में मैच्योर होने वाले टाइम डिपॉजिट में ही ब्याज दर बढ़ाया है। पीपीएफ यानी पब्लिक प्रोविडेंट फंड के ब्याज में कोई बदलाव नहीं किया गई है जिससे इसमें निवेश करने वाले निवेशकों को केवल 7.1 फ़ीसदी ब्याज मिलेगा। हालांकि सरकार ने पिछले 3 साल से पीपीएफ के ब्याज दर में कोई बदलाव नहीं किया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *