77 वर्ष की उम्र में बंगाली गायक अनूप घोषाल का निधन, मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने भी जताया शोक

Singer Anup Ghoshal: कला और संगीत के क्षेत्र में अनुप घोषाल एक जाना-पहचाना नाम है। बंगाली संगीतकार के निधन की सुचना से बेहद दुःखद है। अनुप घोषाल का संगीत में एक अलग ही पहचान था। उनकी आवाज़ में सादगी और भावनाओं का ख़ास जज़्बा था जो सुनने वाले को रोमांचित करता था। उन्होंने दिलों को छू लिया और उनके गीतों में जीवन की हर भावना को छुपाया।

अनुप घोषाल की आवाज़ में वह जादू था जो सुनने वाले को बंध लेता था। उनकी गायकी ने लोगों को उनके संगीत में खो दिया करते थे। उन्होंने बंगाली संगीत को नए आयाम दिए और उनके अद्भुत गायन से संगीत की दुनिया में अलग मकाम हासिल किया। अनुप घोषाल के निधन से उनके प्रशंसकों को अपने प्यारे गायक से एक अलविदा कहना पड़ा है।

परिवार से मिली संगीत की प्रेरणा

अनुप घोषाल का जन्म अमूल्य चंद्र घोषाल और लाबन्या घोषाल के घर साल 1945 में कोलकाता में हुआ था। उनका परिवार संगीत से जुड़ा था और यही से उन्हें संगीत की प्रेरणा मिली। घोषाल ने केवल 4 साल की उम्र में संगीत की लेनी ट्रेनिंग शुरू कर दी थी। पहली बार उन्होंने बच्चों के कार्यक्रम शिशु महल के लिए ऑल इंडिया रेडियो, कोलकाला पर गाना गाया था।

प्राप्त कर चुके है, कई पुरस्कार

संगीतकार डॉ. अनुप घोषाल ने संगीत क्षेत्र में बेहद योगदान दिया है। उन्होंने बंगाली, हिंदी और अन्य भाषाओं में उनके बहुमुखी गायन ने हमारे सांस्कृतिक परिदृश्य पर एक अमिट छाप छोड़ी है। उन्हें साल 2011 में राज्य सरकार ने ‘नजरुल स्मृति’ पुरस्कार से सम्मानित किया था, जबकि साल 2013 में उन्हें ‘संगीत महा सम्मान’ पुरस्कार से नवाजा गया था। उन्हें 1981 में ‘हीरक राजार देशे’ के लिए राष्ट्रीय पुरस्कार मिला।

77 साल की उम्र में अनूप ने कहा दुनिया को अलविदा

कई सुपरहिट सॉन्ग में अपनी मधुर आवाज देने वाले गायक अनूप घोषाल के निधन से सिनेमा जगत में शोक की लहर छा गई है। सिंगर की लम्बे समय से तबीयत खराब चल रही थी और इसी के चलते आज उनका निधन हो गया। घोषाल ने 77 साल की उम्र में दुनिया को अलविदा कह दिया।

निधन का कारण

सूत्रों के मुताबिक, अनूप घोषाल पिछले कई दिनों से बढ़ती उम्र से सम्बन्धित बीमारियों से जूझ रहे थे और इसी के चलते वह साउथ कोलकाता के एक प्राइवेट हॉस्पिटल में भर्ती थे। उन्होंने उसी हॉस्पिटल में शुक्रवार को अंतिम सांस ली और मल्टी ऑर्गन फेल्योर के कारण दोपहर 1.40 बजे उनका निधन हो गया।

Also Read: काफी समय से चल रहा है ऐश्वर्या राय और अभिषेक बच्चन की अनबन की खबरें, परंतु स्कूल इवेंट के दौरान दोनों ने लगाया इस अफवाह को विराम

परिवार के साथ फैन्स के बीच भी छाई शोक की लहर

अनूप घोषाल का बंगाली फिल्म इंडस्ट्री के मशहूर गायकों में से एक थे। उनके देहांत से परिवार और फैंस के बीच शोक की लहर छाई हुई है। बता दें कि उनकी दो बेटियां भी हैं। फिल्मी जगत में भी हर कोई इस खबर पर शोक व्यक्त करता हुआ नजर आ रहा है।

अलग-अलग भाषाओँ के कई सुपरहिट गानों में दी अपनी आवाज

अनूप घोषाल बंगाली फिल्म इंडस्ट्री के मशहूर गायक थे। उन्होंने न सिर्फ बंगाली भाषा में बल्कि हिंदी भाषा में भी कई सुपरहिट गानों में अपनी आवाज दी है। इसमें हिंदी फिल्म ‘मासूम’ के सुपरहिट गाने ‘तुझसे नाराज नहीं जिंदगी’, ‘हुस्न भी आप हैं, इश्क भी आप हैं’ और ‘शीशे का घर से तुम साथ हो जिंदगी भर के लिए’ शामिल हैं। उन्होंने न केवल हिंदी और बंगाली बल्कि अन्य भारतीय भाषाओं में भी गाने गाए थे।

राजनीति में भी एक्टिव थे घोषाल

अनूप घोषाल का नाम केवल सुरों क्षेत्र में ही नहीं, बल्कि राजनीति के क्षेत्र में काफी मशहूर था। साल 2011 में अनूप घोषाल ने तृणमूल कांग्रेस की तरफ से विधानसभा चुनाव लड़ा था और पश्चिम बंगाल की उत्तरपाड़ा सीट पर जीत हासिल की थी। सीएम के निर्देश के बाद मंत्री अरूप विश्वास शुक्रवार को शोक व्यक्त करने अस्पताल पहुंचे।

पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने सिंगर के निधन पर शोक व्यक्त किया है। मुख्यमंत्री ने अपने शोक व्यक्त करते हुए कहा, ”बंगाली, हिंदी और अन्य भाषाओं में गाने वाले अनूप घोषाल के निधन पर मैं गहरा दुख और संवेदना व्यक्त करती हूं।”

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *