NATIONAL FARMER’S DAY 2023: क्या है इस दिन का महत्व ?


NATIONAL FARMER’S DAY 2023: 23 दिसंबर के दिन हमारे देश में राष्ट्रीय किसान दिवस मनाया जाता है। राष्ट्रीय किसान दिवस भारत के पूर्व प्रधानमंत्री चौधरी चरण सिंह की जयंती के उपलक्ष में मनाया जाता है। चौधरी चरण सिंह ने किसानों को सशक्त और उनकी जिंदगी को एक नई दिशा में ले जाने के लिए कई अहम कदम उठाए थे इसलिए उनके जन्म दिवस को भारत में राष्ट्रीय किसान दिवस के रूप में मनाया जाता है।

भारत को किसानों का देश कहा जाता है। हमारा देश एक कृषि प्रधान देश है। हमारे देश में किसानों को अन्नदाता का दर्जा प्राप्त है। भारत में लगभग 60% लोग कृषि पर निर्भर है। इस देश के अन्नदाता को सम्मान देने के लिए प्रतिवर्ष देश भर में 23 दिसंबर को राष्ट्रीय किसान दिवस के रूप में मनाया जाता है।

23 दिसंबर को ही क्यों मनाया जाता है ?

हमारे देश में आज ही के दिन यानी 23 दिसंबर को भारत के पूर्व प्रधानमंत्री चौधरी चरण सिंह की जयंती मनाई जाती है। का जन्म 23 दिसंबर 1902 में हुआ था। चौधरी चरण सिंह ने अपने कार्यकाल में प्रधानमंत्री रहते हुए किसानों के लिए कई अहम फैसले लिए थे तथा उन्हें सशक्त बनाने के लिए कई कार्य किए थे। इसलिए उनके जन्मदिवस को किसानों को समर्पित करते हुए राष्ट्रीय किसान दिवस के रूप में मनाया जाने लगा।

पहली बार कब मनाया गया था किसान दिवस

हमारे देश में राष्ट्रीय किसान दिवस मनाने की शुरुआत 2001 से हो गई थी। 2001 के बाद प्रतिवर्ष पूर्व प्रधानमंत्री चौधरी चरण सिंह द्वारा किसानों के लिए किए गए कार्य और किसानों को सम्मान देने के लिए इस दिन को मनाया जाता है। यह आमतौर पर किसानों की भूमिका और अर्थव्यवस्था में उनके योगदान के बारे में लोगों को शिक्षित करने के लिए देशभर में जागरूकता अभियान और ड्राइव आयोजित करके मनाया जाता है।

Also Read:- Dunki Box Office Collection Day 1: पिछली दो फिल्मों की तुलना में फीकी पड़ी, शाहरुख खान की ‘डंकी’

क्या है 2023 की राष्ट्रीय किसान दिवस की थीम

प्रतिवर्ष राष्ट्रीय किसान दिवस के दिन कोई ना कोई थीम निर्धारित की जाती है। प्रतिवर्ष यह दिन अलग थीम के साथ सेलिब्रेट किया जाता है। इस वर्ष किसान दिवस की थीम सतत खाद्य सुरक्षा और लचीलेपन के लिए स्मार्ट समाधान प्रदान करना(delivery smart solution for sustainable food security and resilience) तय की गई है। इसी थीम के तहत इस दिन को पूरे देश में हर्षोल्लास के साथ मनाया जा रहा है।

राष्ट्रीय किसान दिवस का महत्व

राष्ट्रीय किसान दिवस किसानो की भक्ति और बलिदान को पहचानने के लिए मनाया जाता है। किसानो की सामाजिक और आर्थिक भलाई सुनिश्चित करने के लिए लोगों में जागरूकता बढ़ाना। इस दिन का उपयोग किसानों को उनकी उपज बढ़ाने के लिए नवीनतम कृषि ज्ञान प्रदान करने पर ध्यान केंद्रित करने के लिए किया जाता है।

Also Read:- Salaar Box Office Collection Day 1: शाहरुख की “डंकी” को पछाड़ पहले ही दिन प्रभास की “सालार” ने किया बॉक्स ऑफिस पर कब्जा

अन्य देशों में भी मनाए जाते हैं राष्ट्रीय किसान दिवस

राष्ट्रीय किसान दिवस जिसे उत्तर प्रदेश, हरियाणा, पंजाब और मध्य प्रदेश सहित भारत के कृषि और खेती वाले राज्यों में लोकप्रिय है। किसान दिवस दुनिया के अन्य हिस्सों में भी मनाया जाता है। घाना में यह दिसंबर के पहले शुक्रवार को मनाया जाता है, अमेरिका में इसे 12 अक्टूबर को मनाया जाता है, जांबिया में यह अगस्त के पहले सोमवार को मनाया जाता है और पाकिस्तान में 2019 से 18 दिसंबर को यह दिन मनाना शुरू किया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *