क्या भारतीय जीडीपी 4 ट्रिलियन डॉलर तक पहुंच चुकी है? कितना सच है दावा?

4 ट्रिलियन डॉलर की अर्थव्यवस्था का लक्ष्य पार कर चुका है भारत। यह दावा अरबपति गौतम अडानी, महाराष्ट्र के उपमुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस, केंद्र मंत्री जी किशन रेड्डी, समेत तमाम प्रमुख लोग सोशल मीडिया पर कर रहे हैं। यह सभी सोशल मीडिया पोस्ट कर देश को इस उपलब्धि पर बधाई भी दे रहे हैं लेकिन सोचने वाली बात यह है कि केंद्र सरकार ने अभी तक भारत की जीडीपी का 4 ट्रिलियन डॉलर से जुड़ी यह खबर किसी को नहीं दी है या इस बात की पुष्टि नहीं की है। तो चलिए जानते हैं की कुछ नेताओं के द्वारा किया गया यह दावा कितना सही है?

केंद्र सरकार ने नहीं की पुष्टि

अडानी फडणवीस समेत कई भाजपा नेताओं द्वारा सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म एक्स पर वायरल की जा रही इन पोस्ट पर केंद्र सरकार या भारतीय रिजर्व बैंक ने अभी तक कोई पुष्टि नहीं की है। हालांकि उच्च पदाधिकारी सूत्रों ने इस दावे को नकार दिया है, उन्होंने बताया कि वायरल हो रही यह न्यूज़ गलत है। इंडिया अभी 4 ट्रिलियन डॉलर की इकोनॉमी का लक्ष्य हासिल करने से दूर है।

आईएमएफ की जीडीपी लाइव ट्रैकिंग के आंकड़ों तक पहुंचना आसान नहीं है इसलिए इस स्क्रीनशॉट को सही नहीं माना जाना चाहिए। आपको बता दे की राष्ट्रीय संख्या की ब्यूरो हर तिमाही में भारतीय जीडीपी की गणना करती है। जुलाई सितंबर तिमाही का डाटा 30 नवंबर को आएगा। अप्रैल जून के आंकड़ों के अनुसार रियल जीडीपी 40.37 लाख करोड़ बताई जा रही थी यह इस साल 7.8 फ़ीसदी की दर से बढ़ रही है इसके साथ ही नॉमिनल जीडीपी का आंकड़ा 70.67 लाख करोड़ बताया गया था। ऐसे में यह उम्मीद की जा सकती है कि यह खबर सच हो।

क्या कहा नेताओं ने

गौतम अडानी ने एक्स पर स्क्रीनशॉट करते हुए लिखा की बधाई इंडिया सिर्फ 2 साल में हम दुनिया की तीसरी सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था बन जाएंगे। हम जापान की 4.4 ट्रिलियन और जर्मनी की चार दशमलव 3 ट्रिलियन डॉलर की इकोनॉमी को पीछे छोड़ देंगे। जल शक्ति मंत्री गजेंद्र शेखावत ने भी ऐसे ही पोस्ट डालते हुए लिखा कि हमारी जीडीपी 4 ट्रिलियन डॉलर के पार चली गई है।

भारत के लिए गौरव क पल है प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में न्यू इंडिया का उत्थान हो गया है। इस प्रकार के पोस्ट को देखने के बाद तो ऐसा लग रहा है कि भारत 4 ट्रिलियन इकोनामी को अचीव कर चुका है लेकिन इस बात में कितनी सच्चाई है इस बात की पुष्टि जब तक केंद्र सरकार नहीं कर देती है तब तक इस खबर को सच मानना सही नहीं होगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *