Byju’s अपने कर्मचारियों के वेतन का भुगतान करने में असमर्थ, पैसों की कमी के चलते फाउंडर रवींद्रन ने रखा अपना घर गिरवी

Byju’s: व्यापार चलाना आसान नहीं होता है। धन, समर्थन और संघर्ष, इन सभी चीजों की आवश्यकता होती है। इसी में से एक बात है कंपनी की वित्तीय स्थिति। अक्सर कंपनियों को अपने कर्मचारियों के वेतन भुगतान करने में मुश्किलें आ सकती हैं। Byju’s के संस्थापक एन रवींद्रन ने भी इसी समस्या का सामना किया है।

Byju’s एक जानी-मानी शिक्षा कंपनी है, जो आजकल बहुत बुरे समय से गुजर रही है और यह इतना बुरा है कि कंपनी के कर्मचारियों के वेतन का भुगतान करने के लिए अपना घर तक गिरवी रखना पड़ा है।

संस्थापक ने गिरवी रखी अपनी सम्पत्ति

सूत्रों के अनुसार बायजू के संस्थापक रवींद्रन ने अपनी कंपनी के कर्मचारियों के लम्बे समय से बकाया वेतन का भुगतान करने के लिए अपने खुद के घर के अलावा अपने परिवार के सदस्यों के घरों को भी गिरवी रख दिया है।

खबरों के अनुसार, पूर्व अरबपति जो कि बायजू के फाउंडर है, बायजू रवींद्रन ने बेंगलुरु में स्थित अपने परिवार के स्वामित्व वाले दो आवासों के अलावा एप्सिलॉन में स्थित एक और सम्पत्ति को भी गिरवी रख दिया है और इसके बदले में 12 मिलियन डॉलर का ऋण प्राप्त किया है।

रवींद्रन की यह कहानी हमे संदेश देती है, कि कभी-कभी संकटों का सामना करने के लिए हमें समझदारी से और निर्णय से काम लेना पड़ता है। इससे हमारी क्षमता और संघर्ष का परिचय होता है, जो हमें आगे बढ़ने में मदद करता है।

15,000 कर्मचारियों का वेतन था बकाया

सूत्रों के अनुसार बायजू के संस्थापक द्वारा उधार ली गई इस रकम का इस्तेमाल बायजू की मूल कंपनी, Think & Learn Private Limited के लगभग 15,000 कर्मचारियों का लम्बे समय से बकाया वेतन देने के लिए किया है। Byju’s के संस्थापक का यह कदम न केवल उनकी संकटों का सामना करने की क्षमता को दर्शाता है, बल्कि उनके संगठन के कर्मचारियों के प्रति उनकी जिम्मेदारी को भी दिखाता है।

ED ने की थी Byju’s पर छापामारी

इस साल अप्रैल, 2023 में Byju’s के बेंगलुरु स्थित कार्यालयों पर छापेमारी भी की गई थी। यह छापेमारी ED ने FEMA कानूनों के संभावित उल्लंघन के चलते की थी। हालांकि, कंपनी के संस्थापक रवींद्रन ने स्थिती को संभालते हुए कर्मचारियों को चिट्ठी लिखी कि कंपनी ने सभी कानूनों का पालन किया है।

Byju’s ने घटाया अपने कर्मचारियों का नोटिस पीरियड

फंड की कमी के चलते Byju’s के संस्थापकों ने अपनी कंपनी के सभी कर्मचारियों का नोटिस पीरियड घटा दिया है। यह जानकारी BQ प्राइम के द्वारा दी गई है, BQ प्राइम ने कंपनी के ईमेल की कॉपी देखी है। कंपनी के इस ईमेल में लिखा था कि, ”पूरे ऑर्गेनाइजेशन में हमारी नीतियों में निरंतरता लाने के लिए हम सभी स्तर के कर्मचारियों के लिए नोटिस पीरियड में एक जैसा बदलाव कर रहे हैं।”

लेवल-1, लेवल-2, लेवल-3 और लेवल-4 के कर्मचारी जिनमें एक्जीक्यूटिव्स, एसोसिएट्स, स्पेशलिस्ट, सीनियर स्पेशलिस्ट, सीनियर एसोसिएट्स, सीनियर एक्जीक्यूटिव्स और टीम लीड्स शामिल है। जहाँ कंपनी ने लेवल-1, लेवल-2 और लेवल-3 कर्मचारियों का नोटिस पीरियड 30 से 60 दिनों से घटाकर 15 दिन कर दिया है।

जबकि लेवल-4 के कर्मचारियों जिनमें असिस्टेंट मैनेजर्स और उनसे ऊपर के कर्मचारी आते हैं, उन सभी का नोटिस पीरियड 60 दिन से घटाकर 30 दिन कर दिया गया है।

बोर्ड मेंबर्स सहित कंपनी ऑडिटर ने भी दिया इस्तीफा

कुछ समय पहले ही कंपनी बोर्ड के तीन अहम सदस्यों Peak XV पार्टनर्स के GV रविशंकर, Prosus के Russell Dreisenstock और Chan Zuckerberg Initiative के Vivian Wu ने इस्तीफा दे दिया है। यही नहीं 22 जून, 2023 को कंपनी के ऑडिटर डेलॉयट ने भी इस्तीफा दे दिया था। इन इस्तफों का कारण कंपनी के पिछले वित्त वर्ष के फाइनेंशियल स्टेटमेंट को रिलीज ना करना बताया गया।

कंपनी के ऑडिटर डेलॉयट ने कहा कि पिछले वित्त वर्ष के फाइनेंशियल स्टेटमेंट रिलीज न होने के चलते वह समय पर ऑडिट शुरू नहीं कर पाएंगे। इसके अलावा उन्होंने कंपनी से अन्य रिकॉर्ड्स और दस्तावेजों की भी मांग की थी, लेकिन उन्हें वह भी उपलब्ध नहीं कराए गए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *