Ashneer Grover और परिवार पर धोखाधड़ी का आरोप: दिल्ली पुलिस का दावा

भारतीय फिनटेक क्षेत्र की प्रमुख कंपनी, BharatPe के सह-संस्थापक और पूर्व सीईओ, अश्नीर ग्रोवर और उनके परिवार पर भारी आर्थिक धोखाधड़ी का आरोप लगा है। दिल्ली पुलिस की इकोनॉमिक ऑफेंस विंग (EOW) की जांच में कई गंभीर खुलासे हुए हैं।

मुख्य घटनाक्रम

  • दिल्ली पुलिस के अनुसार, Ashneer Grover और उनकी पत्नी माधुरी जैन ग्रोवर, जो भारतपे की पूर्व निदेशक थीं, ने फर्जी तरीके से 7.6 करोड़ रुपये की राशि का हेरफेर किया।
  • इस घोटाले में उनके परिवार के अन्य सदस्य भी शामिल थे, जिनमें उनके भाई-इन-लॉ दीपक गुप्ता और पिता सुरेश जैन के नाम प्रमुख हैं।

धोखाधड़ी की प्रक्रिया

  • जांच से पता चला है कि इन लोगों ने मानव संसाधन सेवाओं के लिए फर्जी चालान बनाकर कंपनी के खाते से पैसे निकाले।
  • इसमें आठ फर्मों का इस्तेमाल किया गया, जिनके मालिक माधुरी जैन के परिवार के सदस्य थे।

पुलिस की जांच और खुलासे

  • पुलिस ने बताया कि इन फर्मों का खाता भारतपे से पैसे प्राप्त करने और निजी इस्तेमाल के लिए ही खोला गया था।
  • माधुरी जैन द्वारा भारतपे के खाता शाखा को इन एचआर कंसल्टेंट्स को भुगतान करने के निर्देश भी दिए गए थे।

कानूनी कार्रवाई

  • भारतपे ने दिसंबर 2022 में अश्नीर ग्रोवर और उनके परिवार के खिलाफ 81 करोड़ रुपये की धोखाधड़ी की शिकायत दर्ज कराई।
  • इस मामले में आपराधिक विश्वासघात, धोखाधड़ी, बेईमानी और जालसाजी की धाराओं के तहत एफआईआर दर्ज की गई है।

निष्कर्ष

इस मामले ने न केवल भारतपे की साख को धक्का पहुंचाया है, बल्कि फिनटेक उद्योग में नैतिकता और पारदर्शिता के मुद्दे को भी उजागर किया है। इस मामले की जांच अभी जारी है, और इसके नतीजे का इंतजार उद्योग जगत को बेसब्री से है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *