प्राण-प्रतिष्ठा कार्यक्रम के दौरान अयोध्या राम मंदिर में प्रवेश करने हेतु तय किए गए यह नियम, ड्रेस कोड में वर्जित होगी यह वस्तुएं

Ayodhya Ram Mandir Entry Rules: 22 जनवरी 2024 को दोपहर 12:30 बजे अयोध्या राम मंदिर में रामलला की प्राण-प्रतिष्ठा का कार्यक्रम होने वाला है। उद्घाटन के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी समेत कई प्रतिष्ठित अतिथियों को आमंत्रित किया गया है। यह सुनिश्चित करने के लिए कि समारोह सुचारू तरीके से आयोजित किया जाए, अभिषेक समारोह की सुरक्षा के संबंध में कई नियम स्थापित किए गए हैं। अयोध्या राम मंदिर में प्रवेश करने के दौरान राम मंदिर में वस्तुओं कई नियमों का पालन करना होगा।

अयोध्या राम मंदिर में प्रवेश के नियम

मंदिर में अभिषेक के दिन प्रवेश को लेकर एक पत्र जारी किया गया है और मंदिर में प्रवेश पाने के लिए इन महत्वपूर्ण नियमों का पालन करना आवश्यक है।

  • राम लला के अभिषेक में शामिल होने वाले सभी अतिथियों को 22 जनवरी को सुबह 11 बजे से पहले कार्यक्रम स्थल पर प्रवेश करना होगा।
  • सुरक्षा के लिहाज से अगर कोई सुरक्षाकर्मी किसी संत या धर्मगुरु के साथ आता है तो उसे कार्यक्रम स्थल के बाहर रहना होगा।
  • मंदिर के अंदर केवल उसी व्यक्ति को प्रवेश की अनुमति दी जाएगी जिसका नाम निमंत्रण पत्र पर होगा। उनके साथ आने वाले सेवकों या शिष्यों को कार्यक्रम स्थल पर जाने की अनुमति नहीं होगी।

Also Read: Ram Mandir: अयोध्या में रामलला पहनेंगे पुणे की सोने से बनी पोशाक, पूजा के लिए ट्रेनिंग ले रहे अर्चक

  • राम मंदिर में से मुख्य अतिथि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी संतों को मंदिर परिसर से निकलने के बाद ही रामलला के दर्शन की अनुमति देंगे।
  • राम मंदिर के उद्घाटन के दौरान पारंपरिक भारतीय पोशाक पहनी जा सकती है। पुरुष धोती, गमछा, कुर्ता-पायजामा और महिलाएं सलवार सूट या साड़ी पहन सकती हैं। हालांकि, राम मंदिर ट्रस्ट की ओर से इसे लेकर कोई ड्रेस कोड नहीं लगाया गया है।
  • केवल निमंत्रण पत्र वालों और ड्यूटी पर तैनात लोगों को ही अयोध्या के अंदर प्रवेश की अनुमति होगी।

Also Read: कौन हैं मूर्तिकार अरुण योगीराज, जिन्होंने राम मंदिर के गर्भगृह के लिए हेतु चुनी गई रामलला की मूर्ति का निर्माण किया

मंदिर में प्रवेश के दौरान वर्जित होगी यह वस्तुएं

रामलला के अभिषेक के दिन, कार्यक्रम के लिए राम मंदिर में प्रवेश करने वालों को मोबाइल फोन, वॉलेट, कोई गैजेट, ईयरफोन या रिमोट वाली चाबियां जैसी चीजें ले जाने की अनुमति नहीं होगी। संतों के बड़े छाते, कंबल, बैग, पूजा के लिए व्यक्तिगत मूर्तियां, सिंहासन और गुरु पादुकाएं भी कार्यक्रम स्थल पर लाने पर रोक लगाई गई है।

Also Read: सर पर हिजाब, पीठ पर राममंदिर की तस्वीर, हाथों में भगवा ध्वज और राम नाम के जपते हुए रामलला के दर्शन करने पैदल यात्रा पर निकली रामलला की मुस्लिम भक्त

पूर्व से होगा मंदिर में प्रवेश

हाल ही में श्री राम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र स्थल के सचिव चंपत राय ने मंदिर के मानचित्र के माध्यम से सभी को जानकारी प्रदान की। चंपत राय ने बताया कि राम मंदिर में श्रद्धालुओं को पूर्व दिशा से प्रवेश करना होगा। साथ ही निकास दक्षिण दिशा से होगा। राम मंदिर में विभिन्न स्थानों पर कुल 44 दरवाजे बनाए गए हैं और विभिन्न मंदिरों में प्रवेश इन्हीं दरवाजों से होगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *