Ayodhya Ram Mandir: अयोध्या के लिए प्रतिमाओं का हुआ चयन, देश की फेमस मूर्तिकार द्वारा तैयार की गई है

Ayodhya Ram Mandir: हम सब जानते हैं कि भगवान रामलाल की प्राण प्रतिष्ठा 22 जनवरी को होनी है। और इस बीच राम मंदिर के लिए भगवान राम, सीता, लक्ष्मण और हनुमान जी की मूर्ति का चयन किया गया है। इस बात की जानकारी केंद्रीय मंत्री प्रहलाद जोशी द्वारा दी गई है की मूर्ति देश के फेमस मूर्तिकार अरुण योगीराज द्वारा तैयार की गई है।

केंद्रीय मंत्री प्रहलाद जोशी ने कहा, “जहां राम है, वहां हनुमान हैं। देश के फेमस मूर्तिकार गौरव योगीराज अरुण जी के द्वारा बनाई भगवान श्री राम की मूर्ति अयोध्या में स्थापित की जाएगी। अब तो बस अयोध्या मंदिर में रामलाल विराजमान होने के लिए तैयार हैं। यह सभी मूर्तियां कर्नाटक के शिल्पकार की तरफ से तैयार मूर्ति को मंदिर में जगह दी जाएगी। माइक्रो ब्लॉगिंग प्लेटफॉर्म एक्सर योगीराज और रामलाल की मूर्ति की तस्वीर साझा की गई है।”

Also Read – Movies releasing in January 2024: जनवरी 2024 होगा सिनेमा प्रेमियों के लिए और भी अधिक मजेदारबॉलीवुड लेकर आ रहा है यह फिल्में

जिसमें राम और हनुमान के अटूट रिश्ते का एक और उदाहरण है|कर्नाटक के पूर्व मुख्यमंत्री और भारतीय जनता पार्टी के दिग्गज नेता बीएस येदियुरप्पा ने पहले ही योगीराज के नाम का साझा किया था। येदियूरप्पा एक प्लेटफार्म पर खुशी जाहिर कि। और उन्होंने बताया, मैसूर के मूर्तिकार अरुण योगीराज द्वारा बनाई गई भगवान राम लाल की मूर्ति को अयोध्या के श्री राम मंदिर में प्राण प्रतिष्ठा के लिए चुना गया है।और उन्होंने बताया राज्य के श्री राम का गौरव और प्रसन्नता बढ़ गई है। फिर योगीराज अरुण को हार्दिक बधाइयां दी।

भाजपा के अध्यक्ष बी वाई विजयेन्द्र ने भी राज्य और मैसूर को गर्व कराने के लिए योगीराज अरुण कि सराहना की। बी वाई विजेंद्र यदिपुरप्पा के बेटे हैं। और इस बात को बहुत ही खुशी से कहा कि यह मैसूर और कर्नाटक के लिए गौरव की बात है।अरुण योगीराज द्वारा बनाई गई मूर्तियां 22 जनवरी को अयोध्या में विराजमान होगी।

मूर्तिकार योगीराज अरुण की माता श्री सरस्वती ने भी कहा यह हमारे लिए बहुत खुशी का समय है।और उनकी मां ने कहा मैं अपने बेटे कोमूर्ति तैयार करते हुए देखने के लिए काफी उत्सक हूं। परंतु बेटे ने कहा कि वह मुझे अंतिम दिन लेकर जाएगा। जब रामलाल की प्राण प्रतिष्ठा होगी यानी 22 जनवरी को।

आयोजको ने एक हफ्ते पहले ही से पूजित ‘अक्षत’ चावल हल्दी और घी का मिश्रण बांटना शुरू कर दिया गया है.राम मंदिर के प्राण प्रतिष्ठा समारोह को लेकर लोग काफी उत्सुक और खुस दिखे रहे हैं। और यह पूजित अक्षत 15 जनवरी तकबांटना जारी रहेगा। मंदिर की प्राण प्रतिष्ठा 22 जनवरी को दोपहर 12:20 पर की जाएगी। यह सभी जानकारी महासचिव चंपत राय द्वारा दी जा रही है। और उन्होंने अनुरोध किया है कि यहउत्सव हर्ष उल्लास के साथ मनाया जाए।

Also Read – Leap Year 2024: क्या इस बार फरवरी में होंगे 28 के बदले 29 दिन?

बता दे राम मंदिर के चित्र और मंदिर के ढांचे वाले पर्चे लोगों में बांटे गए हैं। यह अक्षत युक्त कागज की पुड़िया है। शीर्ष अधिकारी ने सोमवार को कहा है कि 5 लाख मंदिरों के करीब रहने वाले लोगो को राम मंदिर की तस्वीर और उससे जुड़ी विवरण मिलेंगे।

पीएम नरेन्द्र मोदी द्वारा भी अपील की गई थी,की लोग 22 जनवरी को राम मंदिर के प्राण प्रतिष्ठा के दौरान लोग अपने घरों में दिए जलाएंगे।यह समारोह दीपावली के रूप में मनाएंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *